Recent Articles

Debutante Dilip Arya is striking as a Dacoit in TAANASHAH...

TAANASHAH – Rating 3.00 stars This week see the release of a dacoit film which has already been critically acclaimed at several International Film Festivals. Once in a while comes a film on the dacoits like Mera Gaon Mera Desh, Sholay and the recently Gangs of Wasseypur. TAANASHAH promises to enter this elite list of Bollywood films on the dacoits. Dilip Arya plays the protagonist Shiva whose father and sister are killed by the village Thakur, hence to avenge their death, Shiva kills the Thakur’s clan which leads to the police gunning for him. In his journey hiding from the cops, he comes in touch with a gang of dacoits. Taanashah is loosely based on the life events of famous bandit Shiv Kumar Patel or Dadua. Shiv ruled the jungles of Bundelkhand uninterrupted for 28 and more years and by the time he was killed by STF in 2007, he had control over 14 MLA seats and he virtually decided who would rule UP next. The dreaded outlaw had evolved a powerful ecosystem with innumerable beneficiaries and no one dared go against him. The dacoit Shiva is also revered by the village folk as he is like a village Robinhood. In the process, the local politician needs the dacoit’s help to win the election.    Then begins the game of betrayal and a web of politics and backstabbing. Shot in real locations in Chitrakoot in UP, Mukesh Srivastava has...

Priyanka Singh’s Film Acid Inspires Change In Society And Thinking...

Film Review Film: Acid Director: Priyanka Singh Ratings: 3.5 stars A film based on social evil like throwing acid on the face of girls of the country, ACID has released this week. Based on the real-life acid attack, the film is produced by debutant director-producer Priyanka Singh. She also played the lead role of acid attack victim girl Ruhana in this movie. The film is released nationwide on 3rd January.Release  by Screenshot Media & Entertainment Group It is being compared to Deepika Padukone starrer Chhapaak, but its treatment is different and it is very realistic. Meghna Gulzar’s Chhapaak is the story of Laxmi Agarwal, an acid attack survivor, while Priyanka Singh’s Acid is also based on a real-life incident in UP, where a young girl was attacked with acid. After watching this movie, it is realized that the purpose of making it is not just to make a cinema but to start a debate in the country and society about this social disease. Priyanka Singh has not dramatized the scenes of this film by showing her directing skills but has shot it realistically. Through this film, an attempt has also been made to look into the minds of such dreadful criminals. Acid co-producer Maan Singh has also played a negative role in this film. This movie shows the struggle of women in a male dominated society. This film is not about any one girl, but it shows the pain...

Antervyathaa Is The Most Promising Film Of This Week...

इस सप्ताह रिलीज़ होने वाली मोस्ट प्रॉमिसिंग फिल्म है ‘अंतर्व्यथा’ फिल्म समीक्षा फिल्म ‘अंतर्व्यथा’ निर्देशक: केशव आर्या निर्माता: दिनेश अहीर, भरत कवाड़, दीपक वशिष्ठ, सह निर्माता अक्षय यादव कलाकार; हेमंत पाण्डेय, कुलदीप सरीन, गुलशन पाण्डेय , वीना चौधरी और केशव आर्या रेटिंग्स: 3.5 स्टार्स इस सप्ताह रिलीज़ होने वाली फिल्मों में निर्माता: दिनेश अहीर, सह निर्माता अक्षय यादव और निर्देशक केशव आर्या की फिल्म अंतर्व्यथा’ भी शामिल है, जो इस वीक की उम्दा फिल्म कही जा सकती है। बहुत सारे फिल्म फेस्टिवल्स में कई अवॉर्ड जीतने के बाद फिल्म ‘अंतर्व्यथा’ थियेटर में रिलीज हुई है. इस फिल्म से संगीतकार तोची रैना, हेमंत पांडे, कुलदीप सरीन, गुलशन पांडे, निर्देशक केशव आर्या, निर्माता दिनेश अहीर और सह निर्माता अक्षय यादव का नाम जुड़ा हुआ है। उललेखनीय है कि इस फिल्म को दुनिया भर में अब तक 14 फिल्म फेस्टिवल्स में ८ अवार्ड्स मिल चुके हैं जिसमे बेस्ट डेब्यू फिल्म मेकर, बेस्ट डायरेक्टर, बेस्ट एक्टर के अवार्ड शामिल हैं. निर्देशक केशव आर्य और प्रोड्यूसर दिनेश अहीर, भरत कवाड़, दीपक वशिष्ठ और को प्रोड्यूसर अक्षय यादव की इस फिल्म को आल इंडिया के सिनेमा घरों में रिलीज़ किया गया है । जहां तक इस फ़िल्म की कहानी और सब्जेक्ट का सवाल है तो इस का विषय एकदम अलग है, आजकल की तमाम फिल्मों से एक डिफरेंट सिनेमा है। इसकी कहानी हर दर्शक के दिल को छुएगी और वह इससे कनेक्ट कर पाएगा। इस फ़िल्म में कबीरा फेम तोची रैना ने  खुबसूरत संगीत दिया...

Vinod Kumar’s Film Love In College Gives A Great Message Against Drugs...

ड्रग्स के विरुद्ध एक बेहतरीन सन्देश देती है विनोद कुमार की फिल्म “लव इन कॉलेज” फिल्म समीक्षा: फिल्म “लव इन कॉलेज” निर्माता विनोद कुमार निर्देशक: विशन यादव कलाकार: सपन कृष्णा, प्रिया, किरण कुमार, मुश्ताक खान, एहसान कुरैशी, अनिल यादव, दानिश राणा, रमेश गोयल रेटिंग: 4 स्टार्स इस सप्ताह रिलीज़ हुई निर्माता विनोद कुमार और डायरेक्टर विशन यादव की फिल्म “लव इन कॉलेज” यूथ खास कर कालेज ब्वायज और गर्ल्स के साथ साथ उनके पैरेंट्स के लिए आंख खोलने वाली एक फिल्म है। आर वी सीरीज मोशन पिक्चर्स के बैनर तले बनी यह फिल्म कॉलेज में ड्रग्स के बढ़ते चलन और नवजवानों पर पड़ रहे इसके बुरे प्रभाव को बखूबी दिखाती है। फिल्म “लव इन कॉलेज” का एक डायलॉग इसकी कहानी का सार है। “हम स्कूल कालेज को मंदिर का दर्जा देते हैं लेकिन कुछ लोगों ने उसे ड्रग्स का अड्डा बना कर रख दिया है.” यह आज के समाज का एक कड़वा सच है, जिसे फिल्म में प्रभावी रूप से पेश किया गया है। ड्रग्स के इस रैकेट में और कितने लोग शामिल होते हैं उनका भी पर्दा फाश किया गया है। लव इन कॉलेज में एहसान कुरैशी, किरण कुमार और मुश्ताक खान जैसे एक्टर्स ने अपने काम से दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया है। फिल्म के गाने भी दर्शक बहुत पसंद कर रहे हैं। इस फिल्म में शान जैसे सिंगर्स ने अपनी आवाज़ दी है इसका म्यूज़िक ज़ी म्यूज़िक कंपनी ने रिलीज़ किया है।फिल्म को डिस्ट्रीब्यूटर शमशाद पठान...

From Bhajan Singer To Bhajan Supari An Entertaining Journey Of Bhajan Supari...

Movie review: Bhajan Supari Release date: 28th June Banner: Aaryavarth Media Creations timing: 2h11Minute Language Hindi Producer: Ila Pandey Director/ story writer: Sujeet Goswami Co Producer: DigVijay Singh Rating: 3 Stars From Bhajan Singer to Bhajan Supari; an entertaining journey of’Bhajan Supari’ No film is big or small, the subject of the movie is big or small. The subject of director Sujit Goswami’s film ‘Bhajan Supari’ is very unique. The hero of this movie is the story of the movie. Theater, film and TV actors have worked in Producer Ila Pandey’s film. There is no big face in her film, but the subject and concept of the movie is very big and different. The story of this film is very intresting. Some funny and wonderful events occur in the house of the heroine with the hero of the movie. Due to these incidents, his life has changed. Dagadu bhai (boss), the villain of this movie, wants to take the wrong advantage of Bhajan Kumar alias Paras.     From Bhajan Singer to Bhajan Supari this is an entertaining journey, which sparks the magic of romance between comedy, Suspence and Horror. The movie is an entertaining film. This is an experimental cinema, that creates an unique atmosphere. Writers bring in appealing humour. “Bhajan Supari” is a such piece of work that recognises the durability of meaningful cinema. This is a must watch film in today’s time. A brave story which will...

Rizwan Biopic Movie Is Based On Famous Businessman Of Africa Mr Rizwan Adatia...

रिज़वान अदातिया की इन्स्पायेरिंग बायोपिक है ‘रिजवान’ बहुत से लोगों की जिंदगी की कहानी इतनी इन्स्पायेरिंग होती है कि उनपर बायोपिक फिल्मे बनती हैं. रिज़वान अदातिया की कहानी भी बड़ी प्रेरणादायक है उनकी इसी इमोशनल और सक्सेस स्टोरी को अब एक फीचर फिल्म का रूप दे दिया गया है जिसका नाम है ‘रिजवान’. पिछले दिनों मुंबई के सन्नी सुपर साउंड में इस फिल्म की एक स्पेशल स्क्रीनिंग का आयोजन किया गया जहाँ खुद रिज़वान अदातिया को बधाई देने के लिए कई हस्तियाँ आई. एक आम आदमी कैसे दुनिया में बदलाव ला सकता है, इसी कहानी को पेश किया गया है फिल्म ‘रिजवान’ में. फिल्म देखते समय एहसास हुआ कि मानव सेवा के लिए जो काम रिज़वान अदातिया ने किया है वह बहुत सारे लोगों के लिए इन्स्पायेरिंग है.     रिज़वान अदातिया एक ऐसी हस्ती का नाम है जो अपनी बहुत सारी दौलत दूसरों के कल्याण और परोपकार के लिए दे देते हैं।  पोरबंदर में जन्मे और अब मोजांबिक अफ्रीका में बस चुके रिज़वान केन्या, तंजानिया, यूगांडा, जाम्बिया, रवांडा, कांगो, मेगागास्कर आदि सहित 10 अफ्रीकी देशों में सफल कंपनी चला रहे हैं। रिज़वान अदातिया फाउंडेशन अफ्रीका और भारत में विकास के कई प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है और मानव सेवा में लगा हुआ है। रिज़वान अदातिया से बातचीत करके अंदाजा हुआ कि उन्होंने कितने संघर्ष से यह मुकाम हासिल किया है और किस तरह उनके मन में गरीब और जरुरतमंद लोगों की मदद का जज्बा जागा. जो आदमी...